भागलपुर के नये हवाई अड्डे के लिए जमीन उपलब्ध, नये ग्रीन फिल्ड एयरपोर्ट के लिए प्रधानमंत्री से मिले शहनवाज

0
3395

भागलपुर: शहर से हवाई सेवा की मांग बहुत पूरानी रही हैं, नागरिक उड्डयन सेवा के लिए आम नागरिकों से ले कर कई स्तर तक प्रयासों के बाद भी स्थिति जस की तस हैं। भागलपुर से हवाई सेवा की संभावना तो बहुत हैं, पर बात छोटे रनवे पर आ कर अटक जाती हैं। इधर शहनवाज हुसैन ने नये एयरपोर्ट के लिए प्रधानमंत्री से मुलाकात की हैं,जिस पर पीएम ने उन्हें इस मसले पर विचार करने का आश्वासन दिया।

भागलपुर एयरपोर्ट के लिए नये जगह की तलाश जारी

भागलपुर के वर्तमान एयरपोर्ट के रनवे का विस्तार इस के आसपास बस चुके बड़ी आबादी के कारण मुश्किल हो चुका हैं। ऐसे मे छोटे विमान तो भागलपुर मे उतर सकते हैं, पर बड़े विमानों के लिए कम से कम दो किलोमीटर के रनवे की आवश्यकता हैं। मौजूदा विमानन इंडस्ट्री में बड़े विमानों और अधिक यात्रियों को एक बार मे ले जाने में ही कंपनियां अपना फायदा देखती हैं, ऐसे में भागलपुर जैसे महत्वपूर्ण शहर मे भी बड़े एयरपोर्ट की आवश्यकता महशूस की जाने लगी हैं। जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने माना है कि भागलपुर हर दृष्टि से राज्य के बड़े और महत्वपूर्ण शहरों में एक है, और अगर यहां से सेवा शुरू होती हैं तो भागलपुर सहित आसपास के क्षेत्रों को बहुत लाभ होगा। जिलाधिकारी के अनुसार समार्ट सिटी में शामिल भागलपुर के सबौर और घोघा के बीच बहुत जमीन है, जिसका अधिग्रहण कर हवाई अड्डे के रूप में विकसित किया जायेगा।

उडा़न मे किसी भी कंपनी ने नहीं दिखाई रूचि

केंद्र की सरकार की महत्वपूर्ण योजना उड़ान (उड़ेगा देश का आम नागरिक) के तहत बिहार के भागलपुर सहित कई एयरपोर्ट के लिए केंद्र सरकार ने विमानन कंपनियों से प्रस्ताव मांगे थे, जिनमें से सिर्फ दरभंगा के लिए स्पाइसजेट और इंडिगो की ओर से प्रस्ताव आये। स्पाइसजेट और इंडिगो के पास बड़े विमानों का जाखिरा होना ही भागलपुर के छोटे एयरपोर्ट के लिए प्रस्ताव ना आने का कारण माना जा रहा हैं।

भागलपुर से होती हैं एयर ऐम्बुलेंस की उड़ान

भागलपुर से फिलहाल एयर ऐम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध हैं, जो मरीजों को ले कर जाती हैं। आसपास की बात करें तो पटना के अलवा, पूर्णिया और देवघर मे एयरपोर्ट प्रस्तावित है। मालूम हो की तीन दिन पहले दिल्ली से ‘एविएशन विज लैब’ की टीम भागलपुर आई थी, जिसने भागलपुर सेवा का प्रस्ताव दिया है। फिलहाल इस प्रस्ताव को नागरिक उड्डयन मंत्रालय भेजा जा चुका है, साथ ही जल्द स्मार्ट सिटी की बैठक में हवाई अड्डे के विकास से संबंधित प्रोजेक्ट को रखा जाएगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here