समृद्ध होगा बेगूसराय का इतिहास

0
380

बेगूसराय(समस्तीपुर रेल सिटी) । शहर के एतिहासिक सांस्कृतिक विरासत और समृद्धि को अब हम करीब से जान पाएंगे। इस दिशा में सोमवार के दिन गणेशदत्त महाविद्यालय बेगूसराय स्थित प्राचीन भारतीय इतिहास विभाग संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग द्वारा संचालित काशी प्रसाद जायसवाल पुरातात्ति्वक संग्रहालय के अंदर रखे गए अभिलेखों का अध्ययन भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण मैसूर की पुरालेख निदेशालय की टीम द्वारा किया गया।

बेगूसराय सहित आसपास के क्षेत्र से संग्रहित मूर्तियों, मृण्मूर्तियों, सिक्कों पर लिखे गए अभिलेखों का अध्ययन करते हुए उसकी कॉपी ली गई। पुरालेख निदेशालय मैसूर के सहायक अभिलेखविद एस. कृष्णमूर्ति के नेतृत्व में पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग उत्खनन शाखा-3 पटना के सहायक पुराविद नीरज कुमार मिश्रा, वसंत कुमार, शिवाराज द्वारा संग्रहालय की मूर्तियों का अध्ययन करते हुए बारिकी से उसकी फोटोग्राफी की गई। मौके पर मौजूद प्राचीन भारतीय इतिहास संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. शैलेश कुमार सिन्हा, विभागाध्यक्ष डॉ. चंद्रभूषण प्रसाद सिन्हा, संग्रहालय अध्यक्ष डॉ. कुंदन कुमार द्वारा संग्रहालय के अंदर रखे गए प्रदर्शों के बारे में टीम को जानकारी दी गई।

अभिलेखों का निरीक्षण और अध्ययन करते हुए एस कृष्णमूर्ति ने कहा कि अभी तक जिन मूर्तियों में अभिलेख मिले हैं, उसके अध्ययन से ही पता चल पाएगा कि अभिलेख में क्या है। वहीं. डॉ. शैलेश कुमार सिन्हा ने कहा कि काशी प्रसाद जायसवाल पुरातात्विक संग्रहालय में रखे प्रदर्श काफी महत्वपूर्ण हैं। संग्रहालय अध्यक्ष डॉ कुंदन कुमार ने बताया कि संग्रहालय शोध के साथ-साथ हमारी सांस्कृतिक पहचान भी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here