बिहार की राजनीति का सबसे बड़ा दिन आज। नीतीश कुमार से मिलेंगे अमित शाह

0
644

पटना। लोकसभा चुनाव से पूर्व त्यारियो में जुटे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आज पटना का दौरा करेंगे। एनडीए अपने विजय रथ को बरकरार रखना चाहती है इसी कड़ी में अमित शाह देश भर में घूमकर समर्थन मांग रहे है। आज पंटना में नाश्ता से लेकर डिनर भी दोनों नेता साथ में करेंगे।अमित शाह आज अपने नेताओ और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे और लोकसभा चुनावों में नीतीश कुमार के साथ आने से बिहार में एनडीए की स्तिथि का आकलन करेंगे। बहुत दिनों से बीजेपी और जेडीयू में सीट बटबारे को लेकर चली अा रही खींचतान पर बात होगी और दोनों पार्टियों द्वारा सीटों को लेकर कोई निष्कर्ष निकाला जाएगा। पूरे बिहार की पार्टियां इस मुलाकात पर नजर बनाए रखे है। आज जब दोनों नेताओं की मुलाकात होगी तो कई मुद्दों पर चर्चा होगी जिसके आधार पर आने वाले चुनावो में जीत की रणनीति पर मिलकर दोनों पार्टियां काम करेंगी।

एक और जहा विपक्ष एनडीए में सीट बटवारे को लेकर चली अा रही खींचतान से उत्साहित है। नीतीश कुमार की पार्टी ने कुछ दिन पहले 25 सीट की मांग रखकर बीजेपी को सकते में डाल दिया था। वहीं दूसरी ओर कुशवाहा के महागठबंधन में जाने की उम्मीद लगाई जा रहीं है। आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने तो यहां तक कह दिया कि लोकसभा चुनाव से पूर्व रामविलास पासवान और उपेन्द्र कुशवाहा विपक्ष के गठबंधन का हिस्सा होंगे। लेकिन लोजपा ने इसे खारिज कर दिया था।
फिलहाल तो भाजपा के अधिकांश नेताओ का मानना है कि नीतीश कुमार के साथ ही चलना उचित है। अगर सीटों पर कोई समझौता नहीं होता है तो इसका फायदा महागठबंधन को आने वाले चुनावों में मिल जाएगा। बीजेपी कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहीं,नीतीश कुमार बिहार का एकमात्र चहेरा है जो कि एनडीए को जीत दिला सकतीं है। कुछ दिनों पहले बिहार कांग्रेस के कुछ विधायकों ने नीतीश कुमार को कांग्रेस के साथ लाए जाने की वकालत की थी। कांग्रेस को भी पता है अगर नीतीश कुमार महागठबंधन का हिस्सा होते है तो आगामी लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के लिए संजीवनी का काम करेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here