बिहार की बेटी ने बनाया अल्कोहल डिटेक्टर मशीन !!

0
1930

पूर्णिया: बिहार के पूर्णिया की रहने वाली ऐश्वर्या प्रिया ने एक ऐसा मशीन का आविष्कार किया जो अल्कोहल को डिडेक्ट करता है, यानी यदि आप शराब पीकर गाड़ी चलाएंगे तो गाड़ी स्वतः बंद हो जाएगी। बिहार में शराबबंदी के बाद पूर्णिया की ऐश्वर्या प्रिया लगातार इसपर काम कर रही थी, और अंततः उसे सफलता मिली है। यह यंत्र लगने से वाहन दुर्घटना में हो रहे इजाफा को भी रोका जा सकता है। भोपाल के लक्ष्मी नारायण कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड से बीटेक कर रही ऐश्वर्या प्रिया को कई महीनों की कड़ी मेहनत के बाद यह सफलता मिली है। सरकार वाहनों में इस यंत्र का इस्तेमाल करें तो शराब पीकर कोई गाड़ी नहीं चला पायेगा।


अल्कोहल डिडेक्टर एवं ऑटोमेटिक इंजन लॉकिंग सिस्टम किया तैयार

शराब पीकर वाहन चलाने एस आए दिन दुर्घटना होती रहती है, इसके लगने के बाद काफी हद तक वाहन दुर्घटना को रोका जा सकता है। ऐश्वर्य को इस सफलता के लिए पुणे में आयोजित राष्ट्रीय स्तर पर इन्नोवेटिव मॉडल एवं प्रोजेक्ट प्रतियोगिता में प्रथम स्थान मिला है। इस प्रतियोगिता में देशभर के 125 प्रविष्टियां प्राप्त हुई एवं 84 का चयन प्रतियोगिता हेतु किया गया। इस प्रोजेक्ट का नाम अल्कोहल डिडेक्टर एवं ऑटोमेटिक इंजन लॉकिंग सिस्टम रखा गया है।

कैसे करता है काम यह मशीन ।

यह एक छोटी सी मशीन है, जिसे गाड़ी के डेस्क बोर्ड पर लगाया जा सकता है। इस यंत्र का तार गाड़ी के बैटरी से जुड़ा होता है, जिससे यह काम करता है। वही दूसरा तार गाड़ी के इंजन में लगा होता है। जैसे ही कोई ड्राइवर या वाहन चालक शराब पीकर गाड़ी चलाएगा, सामने लगा अल्कोहल डिडेक्टर मशीन उसके साँस से अल्कोहल को पकड़ लेगा, इसे पकड़ने के बाद यह मशीन इंजन को बंद कर देगा। जब तक शराब पिये हुए व्यक्ति को गाड़ी से उतारा नही जाएगा, तक तक गाड़ी स्टार्ट नहीं होगी। ऐश्वर्य ने बताया कि बिहार में शराबबंदी के बाद शराबी को पकड़ने के लिए मशीन को मुँह में लगाया जाता है, इस मशीन में मुँह में लगाने की जरूरत ही नहीं है। सिर्फ साँस के बदबू से ही अल्कोहल को डिडेक्ट किया जा सकता है, जो अल्कोहल का लेबल भी बताएगा। उन्होंने बताया कि अगर सरकार इस प्रोजेक्ट पर काम करे तो महज 8 से 9 सौ रुपया में मशीन बनाकर वाहनों में लगा सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here