दरभंगा को मिलेगा एम्स का तौहफा, बिहार सरकार दरभंगा मे एम्स का जल्द ही भेजेगी केंद्र को प्रस्ताव।

0
833

दरभंगा: उत्तर बिहार के सब से बड़े मेडिकल हब दरभंगा को जल्द एम्स का सौगात मिलेगा, इस कों लें बिहार सरकार ने कार्य शुरु कर दिया है। अखिल भरतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के दरभंगा में निर्माण के लिये प्रस्ताव तैयार किया है, जिसे जल्द ही मंजूरी के लिये केंद्र सरकार को भेजा जायेगा। केंद्र सरकार से मंजूरी मिलते ही इस के निर्माण कार्य शुरु कर दिया जायेगा, मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता मे हुई स्वस्थ विभाग की बैठक में इसको पर निर्णय लिया गया। दीपक कुमार ने जल्द प्रस्ताव केंद्र को भेजने की बात भी कही।

एम्स के तौर पर दरभंगा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल को मिल सकता है दर्जा

Prudence DARBHANGA

मालूम हो की उत्तर बिहार में ज़मीन का चयन कर नये एम्स का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजना था, जिस के तहत दरभंगा का चयन किया गया है। मौजूदा समय मे सिर्फ दरभंगा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल एम्स की अहार्ता पूरी करता है, जिसके पास 220 एकड़ से ज्यादा जमीन उप्लब्ध है। ऐसे मे जमीन अधिग्रहण में आने वाले खर्च और बाधाओं से पार पाते हुए, दरभंगा में एम्स जैसी संस्थान खड़ा किया जा सकता है।

एयरपोर्ट, रेलवे और सड़क की बेहतरीन कनेक्टिविटी के कराण लोगों के लिए एम्स होगा वरदान

मालूम हो की दरभंगा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल उत्तर बिहार का सबसे बड़ा मेडिकल कॉलेज है, जिस पर ना सिर्फ उत्तर बिहार के लोग बल्कि नेपाल के लोग भी निर्भर है। बड़ी संख्या में लोग रोज दूर दराज के इलाकों से यहां इलाज कराने आते हैं, ऐसे में एम्स के रुप में अपग्रेड होने से बेहतर सवास्थ सुविधा के लिये लोगो को पटना और दिल्ली पर निर्भर नही होना होगा। साथ ही दरभंगा ना सिर्फ भौगोलिक तौर पर बीचों बीच अवस्थित है, बल्कि दरभंगा रेलवे के मामले में पटना के बाद सबसे बेहतर तरीके से महानगरों से जुड़ा हुआ शहर है। वहीं ईस्ट वेस्ट कॉरीडोर शहर को एक्सप्रेसव के साथ कनेक्टिविटी देती है, साथ ही आने वाले वक्त मे नेपाल के जनकपुर से दरभंगा सीधी रेल सेवा भी शुरु होनी है। जिससे नेपाल के तराई क्षेत्र के लोगों की दरभंगा तक आसान पहुँच होगी। साथ साथ एयरपोर्ट से दरभंगा के जुड़ने के कारणों को एम्स की मंजूरी के पीछे भी एक कारण माना जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here