बिहार में शिक्षकों और कर्मचारियों को वेतन जल्द बढ़ेगा । पढ़े पूरी रिपोर्ट ।

0
654

पटना । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है की बिहार के विश्वविधालय के शिक्षकों एवं उनके कर्मचारियों को केंद्र सरकार के सातवें वेतन आयोग के अनुरूप वेतन बढ़ाने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने कहा शिक्षा विभाग को एक कमिटी गठित कर सातवे वेतन आयोग के निर्देश अनुसार वेतन दिए जाने की जल्द से जल्द रिपोर्ट तैयार करे। उन्होंने कहा कि जैसे ही कमिटी सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी उसके बाद बढ़े हुए वेतन के साथ पैसे मिलने शुरू हो जाएंगे ये बातें उन्होंने पटना के श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित पाटलिपुत्र विश्वविधालय के कार्यक्रम में कहीं ।

शिक्षकों और कर्मचारियों को लाभ

बढ़े हुए वेतन से करीब पूरे राज्य में विभिन्न कॉलेज में पढ़ा रहे करीब 8000 शिक्षकों तथा तकरीबन 30,000 कर्मचारियों को लाभ होगा । सातवां वेतन आयोग केंद्र सरकार द्वारा 1 जनवरी 2016 से लागू किया गया था। पाटलिपुत्र विश्वविधालय का पहला शैक्षणिक सत्र (2018-2019) इसी साल 2 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है ।

शिक्षकों को नसीहत

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षकों को अपनी ओर वेतन की चिंता छोड़ पूरी तन्मयता के साथ छात्र-छात्राओं का ख्याल रखना चाहिए । शिक्षकों की चिंता हमारी चिंता है लेकिन छात्रों के प्रति शिक्षकों का समर्पण भाव होना चाहिए जिससे कि छात्र जीवन में नए मुकाम हासिल कर सके। बिहार के छात्र देश और पूरी दुनिया में अपने लगन और मेहनत से अपनी सफलता का लोहा मनवा रहे है ।

नीतीश ने विपक्षी दलों पर साधा निशाना ।

नीतीश ने राजद सहित अन्य विपक्षी दलों पर उनका नाम लिए बिना प्रहार करते हुए कहा कि आज कल बहुत कुछ सुनने को मिलता है लेकिन 2005-06 में शिक्षा की क्या स्थिति थी बिहार में, यह बात किसी से छिपी नहीं है । नीतीश ने कहा कि लालू के 15 साल के शासन में न ही स्कूल थे और ना ही कॉलेज ,शिक्षा ब्यवस्था खराब थी । 2005 में सरकार में आने के बाद शिक्षकों कि बहाली हो पाई ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here