बच्चा नहीं हुआ, तो चिता पर लिटा जिंदा जलाने का किया प्रयास, ऐन समय पर पहुंची पुलिस

0
378

भोजपुर के संदेश थाने के सारीपुर गांव के पास सोन नद के किनारे सोमवार को मारपीट कर एक महिला को चिता पर लिटा कर जिंदा जलाने का प्रयास किया जा रहा था. लेकिन पुलिस ऐन मौके पर पहुंच गयी और महिला काे बचा लिया. महिला का संदेश रेफरल अस्पताल में इलाज चल रहा है. महिला की पहचान संदेश थाने के संदेश गांव के रवींद्र ठाकुर की पत्नी पुतुल देवी के रूप में की गयी है.  उसका मायके संदेश थाने के बचरी गांव में है. महिला के भाई गणेश ठाकुर ने बताया कि 10 वर्ष पहले बहन की शादी संदेश गांव निवासी रवींद्र ठाकुर के साथ हुई थी.  शादी के 10 वर्ष बाद भी बहन को कोई संतान नहीं थी. बच्चा पैदा नहीं  होने कारण पति उसके साथ मारपीट करता था. सोमवार को उसके  सुसराल वालों ने उसके साथ मारपीट की और बेहोशी की हालत में उसे सोन नदी के पास चिता पर लिटा कर जलाने का प्रयास किया . 

चिता पर लेटी महिला की कराहने की आवाज सुनी, तो पुलिस को दी गयी सूचना

इस संबंध में घटना के  सूचक सारीपुर गांव निवासी मंजीत तिवारी ने बताया कि सोमवार की शाम  को सोन नद के  किनारे शौच करने गया था. वहां चिता पर लेटी एक महिला को जलाने के लिए 10-12 लोग जुटे हुए थे.  इसी बीच चिता पर लेटी महिला  की कराहने की आवाज आयी. इसकी सूचना मैंने तत्काल पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को चिता से  उठा कर  अपने कब्जे में लिया. पुलिस के आने की भनक लगते ही ससुराल  वाले भाग गये. पुलिस महिला के होश में आने का इंतजार कर रही है. महिला के  होश में आने के बाद पूरे मामले से पर्दा उठ पायेगा. इस संबंध में  थानाध्यक्ष सुदेह कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है. 

सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता दिनेश कुमार तिवारी ने कहा कि ऐसी घटना में  307 (हत्या का प्रयास), 323 (मारपीट), 326 व 326b (गंभीर ), 498 a (घरेलू हिंसा), 406 व 34 (धमकाने का) धारा लगेगी 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here